जालंधर रेलवे स्टेशन पर GST विभाग की बड़ी कार्रवाई, मचा हड़कंप

27
0

जालंधर : स्टेट जी.एस.टी. मोबाइल विंग इन दिनों बेहद सरगर्म नजर आ रहा है, जिसके चलते बिना बिल के मॉल लाने वालों की अब शामत आने वाली है। विभाग द्वारा गत दिनों 5.5 किलो सोने के गहने पकड़े गए थे और आज 20 नग जब्त किए गए हैं जोकि अंडर बिलिंग बताए जा रहे हैं। इसमें लाखों रुपए के तंबाकू प्रोडक्ट्स होने की सूचना है। स्टेट जी.एस.टी. मोबाइल विंग के डिप्टी डायरैक्टर कमलप्रीत सिंह ने गुप्त सूचना के आधार पर इस कार्रवाई को अंजाम देते हुए नग निकलने से पहले कार्रवाई करवा दी। अगर 5-7 मिनट देर हो जाती तो मॉल निकल जाना था और विभाग को खाली हाथ वापस लौटना पड़ना था।

डिप्टी डायरैक्टर कमलप्रीत सिंह को गुप्त सूचना मिली की सिटी रेलवे स्टेशन पर बीड़ियों की खेप उतरने वाली है। इसके चलते उन्होंने मोबाइल विंग के एस.टी.ओ. (स्टेट टैक्स ऑफिसर) डी.एस.चीमा को कार्रवाई करने संबंधी बताया। नग उतरने की सूचना मिलने के तुरंत बाद सिटी रेलवे स्टेशन पर पहुंचे एस.टी.ओ. डी.एस.चीमा ने मौके पर पहुंच कर 20 नगों को जांच पड़ताल शुरू की। इसपर उन्होंने रेलवे के अधिकारियों के साथ संपर्क किया जिसपर रेलवे ने तुरंत प्रभाव से नगों को अपने कब्जे में ले लिया। उक्त नगों की डिलीवरी जी.एस.टी. विभाग को रविवार को मिलेगी, फिलहाल यह माल रेलवे स्टेशन में पड़ा है।

विभाग को फिलहाल पता नहीं चल पाया है कि यह माल किस गाड़ी के जरिए आया है और यह माल किससे संबंधित है। विभाग द्वारा डिलीवरी मिलने के बाद इसका जांच की जाएगी। इसके बाद ही बिलिंग इत्यादि के बारे में पता चल पाएगा।

5 नगों के पहले निकलने की सूचना

वहीं, सूत्रों का कहना है कि स्टेट जी.एस.टी. विभाग के पहुचने से पहले 5 के करीब नग निकल चुके थे जोकि शायद किसी और गाड़ी से आए थे। इस बात की पुष्टि नहीं हो रही क्योंकि जी.एस.टी. के एस.टी.ओ. चीमा के पहुंचने के बाद कोई नग बाहर नहीं निकला। बताया जा रहा है कि यदि अधिकारियों को सूचना मिलने में कुछ देरी होती या अधिकारी समय पर न पहुंच पाते तो यह माल हाथ से निकल जाना था।

मात्र 5 मिनट के बीच मौके पर पहुंच गए एस.टी.ओ. चीमा

मोबाइल विंग के डिप्टी डायरैक्टर कमलप्रीत सिंह ने सूचना मिलने के बाद एस.टी.ओ. चीमा से मौका संभालने को कहा था। इसकी सूचना मिलने के मात्र 5 मिनटों के भीतर चीमा मौके पर पहुंच गए थे, जिसके चलते यह पूरी कार्रवाई अमल में आ सकी। विभाग द्वारा की जा रही सख्ती व तेजी दिखाने के चलते विभाग को बड़ी सफलता लगी है।