पिता ने बेटे की मौत के बाद जाली वसीयत बनाई, रुपए भी खुर्द-बुर्द किए, केस दर्ज*

25
0

*पिता ने बेटे की मौत के बाद जाली वसीयत बनाई, रुपए भी खुर्द-बुर्द किए, केस दर्ज*
*सुखविंदर कालिया पुत्र अयोध्या प्रसाद निवासी अर्बन स्टेट PHASE टू बसंत AVENUE ने साथ दिया आरोपी वसीका नवीस समेत और दोस्त भी नामजद*

*एस.डी.एम. की कोर्ट में जाली वसीयत दायर करके प्रापर्टी हड़पने का भी किया था प्रयास*

*वही ठग सुखविंदर KALIA जिसने मार्च 2023 में राजा गार्डन के एक उद्योगपति की प्रॉपर्टी के झूठे कागज़ बना कर अपना हक जमाने की कोशिश की पर नाकाम रहा*

जालंधर, 17 मई (न्यूज़ सिक्सर ): प्रीत नगर के रहने वाले वसीका नवीस ने अपने ही बेटे की मौत के बाद उसकी जायदाद हड़पने की कोशिश की।
आरोपी ने फर्जी वसीयत, मुख्तयारनामा लगा कर गलत बैनामे किए और घर में पड़ा 35 लाख ले गया जबकि बैंकों में पड़े 23 लाख रुपए भी खुदबुर्द कर दिए। इस मामले में थाना नई बारादरी की पुलिस ने वसीला नवीस सुदेश शारदा समेत उसके एक रिश्तेदार व दोस्त के खिलाफ केस दर्ज किया है।
पुलिस को दी शिकायत में टविंकल शारदा पत्नी स्व. राजेश शारदा निवासी सिद्द मोहल्ला सोढल ने बताया कि वह शादी के कुछ समय के बाद से ही अपने पति और दो बच्चों के साथ ससुराल घर में न रह कर अलग घर में रहते हैं, लेकिन पति राजेश शारदा अपने पिता के साथ ही कचहरी में ही वसीका नवीस का
काम करते थे। उसने कहा कि पति अचानक ज्यादा बीमार हो गए और फिर जुलाई 2023 में उनकी मौत हो गई।
टविंकल ने कहा कि मौत से पहले ही उसके पति ने अपनी सारी प्रापर्टी और कैश के बारे बता दिया था। पति की मौत के बाद वह सदमें थी लेकिन दूसरी तरफ उसका ससुर सुदेश शारदा पति की प्रापर्टी पर कब्जा करने की प्लानिंग कर रहा था। कल टविंकल ने बताया कि उसके
ससुर सुदेश शारदा पुत्र लाल चंद निवासी प्रीत नगर ने उनके घर आकर बिना उसकी इजाजत के प्रापर्टी के सभी दस्तावेज और 35 लाख रुपए ले गया और पति की वसीयत व मुख्तयारनामा जाली दस्तावेजों लगा कर तैयार करके बैनामे करके कब्जा करने की कोशिश की। ससुर ने पति की जायदाद पत्नी और उसके बच्चों से लेने के लिए टविंकल को मुख्तयारनामा आम लिख कर देने व कहा, लेकिन टविंकल ने मना को किया तो उसने फर्जी वयीसत तैयार करके
एस.डी.एम. की कोर्ट में लगा दी।
पीड़िता का आरोप है कि जिस बैंक के खाते में उसके पति ने अपने पिता को नॉमिनी बनाया था, उसमें से भी सुदेश शारदा ने 23 लाख रुपए निकलवा कर खुर्दबुर्द कर किए जबकि इंशोरेंस के पेपरों से भी खेड़खानी की। टविंकल ने कहा कि जब उसे सारी बातों को पता लगा तो उसने ससुर का विरोध भी किया लेकिन उसने एक नहीं सुनी और यह सब करने के लिए सुदेश शारदा के दोस्त विजय पुत्र कृष्ण कुमार
निवासी मंडी रोड और रिश्तेदार सुखविंदर कालिया पुत्र अयोध्या प्रसाद निवासी अर्बन स्टेट टू बसंत एवेन्यू नने साथ दिया। इस संबंधी टविंकल ने पुलिस
एवेन्यू ने को शिकायत दी जिसकी जांच की तो सभी आरोप सही पाए गए। थाना नई बारादरी में सुदेश शारदा, विजय कुमार और सुखविंदर कालिया के खिलाफ सोची समझी साजिश के तहत केस दर्ज कर लिया है। फिलहाल यह आरोपी अभी फरार हैं जिनकी गिरफ्तारी नहीं हो पाई है।