Today weather : राजधानी में बदला मौसम का मिजाज, आज भी बारिश का यैलो अलर्ट, कल से साफ हो सकता है मौसम

24
0
Patnitop: A tourist during snowfall at Patnitop hill station, in Jammu & Kashmir, Sunday, Feb. 4, 2024. (PTI Photo)(PTI02_04_2024_000082B)

नई दिल्ली/पंजाब। राजधानी दिल्ली में मौसम का मिजाज अचानक से बदला और दोपहर से गर्मी से परेशान लोगों को शाम के समय थोड़ी सी राहत मिली है। देर शाम तेज हवाओं के साथ बारिश के बाद दिल्ली के तापमान में भी कमी आई है। इसके साथ ही प्रदूषण का स्तर भी कम हुआ है। मौसम विभाग के अनुसार अगले दो से चार दिन गर्मी से राहत की उम्मीद है। मौसम विभाग के अनुसार रविवार को दिल्ली में घने बादल छाये रहेंगे। साथ ही हल्की बारिश के साथ तेज आंधी की भी संभावना है।

वहीं, पहाड़ों में एक्टिव वैस्टर्न डिस्टर्बेस से मैदानी इलाकों में मौसम का मिजाज बदला हुआ है। पिछले दिनों में दिन का तापमान 35 डिग्री के पास पहुंचने से लोगों को गर्मी सताने लगी थी। हर किसी को अभी से भीषण गर्मी का डर सताने लगा था लेकिन मौसम के बदले मिजाज ने लोगों को राहत दिला दी है। रविवार को सुबह से आसमान पर बादल छाए रहे। दोपहर में कुछ मिनट के लिए बादल भी बरसे। इससे दिन का तापमान 5 डिग्री की गिरावट के साथ 27 डिग्री सैल्सियस रिकार्ड किया गया। मौसम माहिरों ने सोमवार को बारिश का यैलो अलर्ट जारी किया है। मैदानी इलाकों में कई शहरों में सामान्य से ज्यादा बारिश भी हो सकती है। इस समय रात का न्यूनतम तापमान 20 डिग्री सैल्सियस रिकार्ड किया जा रहा है। वहीं सुबह के समय हवा में नमी की मात्र 79 व शाम में 56 रही।

मंडियों में बारिश से गेहूं को बचाने के लिए खरीद एजैंसियां तैयार रखें तिरपालें : डीसी

मंडियों में गेहूं की आमद शुरू होते ही मौसम ने भी रंग बदलना शुरू कर दिया। इसी बीच डिप्टी कश्मिनर साक्षी साहनी ने खरीद एजैंसियों को पहले ही निर्देश दे दिए थे कि मंडियों में गेहूं को बारिश से बचाने के लिए तिरपालों की व्यवस्था की जाए। खरीद एजैंसियों ने कुछ तिरपाल तो रखे हैं लेकिन जब फसल ज्यादा हो जाएगी तब यह व्यवस्था नाकाफी होगी। डीसी ने खरीद एजैंसियों को कहा है कि तिरपाल की व्यवस्था अगर और करने की जरूरत है तो उसे भी पहले ही करके रख दें। सोमवार को हुई बारिश से पहले ही मंडियों में खरीद एजैंसियों ने तिरपाल से गेहूं को कवर कर दिया था। मंडी बोर्ड के अधिकारियों व कर्मचारी भी फसल को गीला होने से बचाने में जुटे रहे। डीसी ने बताया कि उन्हें जो रिपोर्ट मिली है उसके मुताबिक मंडियों में बारिश से पहले ही कवर कर दिया गया। उन्होंने कहा कि मौसम विभाग के पूर्वानुमान मिलते ही मंडी बोर्ड व खरीद एजैंसियों को अवगत कराया जा रहा है ताकि वो समय पर सारी व्यवस्था कर सकें।