जांलधर में सांसद व विधायक के पार्टी छोड़ने के बाद बदली रणनीति

37
0

लुधियाना : लोकसभा चुनावों के मद्देनजर नेताओं के पार्टियां बदलने के चल रहे ट्रेंड के बीच आम आदमी पार्टी अपनी बाकी बची सीटों पर किसी बाहरी उम्मीदवार की बजाय अपने पुराने चेहरों को ही मैदान में उतार सकती है। इस बात के संकेत पार्टी के अंदरुनी सूत्रों द्वारा हाईकमान को दी गई फीडबैक के आधार पर मिले हैं।

बता दें कि मुख्यमंत्री भगवंत मान ने लुधियाना व जालंधर के लिए अपने कैंडीडेट्स के नामों की घोषणा 16 अप्रैल को घोषित करने का ऐलान किया था। मुख्यमंत्री के ऐलान के बाद अब सभी को मंगलवार का इंतजार है जब इन दोनों महत्वपूर्ण सीटों पर उम्मीदवारों के नाम जनता के सामने आएंगे।

पार्टी सूत्रों की मानें तो हाईकमान द्वारा लुधियाना के लिए कई बार करवाए गए सर्वे में 4 विधायकों के नाम पर भी विचार किया गया। इस संबंधी सी.एम. के साथ गत दिनों हुई मीटिंग में भी लुधियाना लोकसभा के अधीन आते सभी विधायकों व हलका इंचार्ज ने पार्टी को यहां तक कह दिया था कि पैराशूट से किसी उम्मीदवार को लाने के बजाय पार्टी से जुड़े किसी पुराने चेहरे को लोकसभा मैदान में उतार दिया जाए तो जीत की राह आसान हो सकती है।

वहीं, विधायकों ने इतना भी कह दिया था कि अगर पार्टी किसी मौजूदा विधायक को भी देश की संसद में पहुंचाने के लिए लोकसभा चुनाव का टिकट देगी तो भी किसी को कोई ऐतराज नहीं होगा और सभी बढ़चढ़ कर पार्टी को जीत दिलवाने में दिन-रात एक कर देंगे। इसी बीच जालंधर से सांसद रिंकू व विधायक शीतल अंगुराल द्वारा ‘आप’ छोड़ भाजपा में जाने के बाद भी ‘आप’ हाईकमान इस बात पर सहमत हुआ है कि पार्टी नए की बजाय अपने पुराने पदाधिकारियों पर ही भरोसा जताए।

इस फैसले से जहां पार्टी का पुराना वालंटियर विधानसभा चुनाव की तरह लोकसभा में भी ‘आप’ को जीत दिलाने के लिए काम करेगा वहीं बाहरी कैंडीडेट लाने से पार्टी के भीतर पैदा होने वाले विरोध से भी छुटकारा मिलेगा। पार्टी सूत्रों की मानें तो ‘आप’ हाईकमान विधायकों के साथ पार्टी के पुराने पदाधिकारियों की फीडबैक भी ले चुका है जिन्होंने किसी बाहरी उम्मीदवार को खड़ा करने से पार्टी को होने वाले संभावित नुकसान बारे पहले ही सीनियर लीडरशिप को अवगत करवा दिया है।

वहीं, पार्टी के अंदरूनी सर्वे में भी यही बात सामने आई है कि लोकसभा चुनावों के दौरान लुधियाना से ऐसे उम्मीदवार को उतारा जाए जिसकी शहरी हलकों के साथ ग्रामीण वोट पर भी पकड़ हो। आम आदमी पार्टी अब तक 9 लोकसभा हल्कों के लिए अपने उम्मीदवारों के नाम की घोषणा कर चुकी है जबकि लुधियाना, जालंधर, गुरदासपुर व फिरोजपुर में नामों की घोषणा अभी बाकी है।