जालंधर इन नेताओं के परिवार में हो सकता है चुनावी दंगल, जानें क्या है पूरा मामला

50
0

जालंधर- वेस्ट विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव को लेकर राजनीतिक गलियारों में एक नई चर्चा छिड़ गई है कि क्या उपचुनाव के बहाने सांसद चरणजीत सिंह चन्नी और पूर्व सांसद सुशील रिंकू एक बार फिर चुनावी दंगल हो सकाता है?  राजनीतिक गलियारों का मानना ​​है कि पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी चमकौर साहिब सीट छोड़कर जालंधर सीट से चुनाव लड़े हैं और सांसद चुने गए हैं। अब उन्हें चमकौर साहिब सीट छोड़कर जालंधर में बसना होगा और अगले 5 वर्षों तक सांसद के रूप में जिले के लोगों के बीच रहना होगा। चमकौर साहिब विधानसभा क्षेत्र का चुनाव 2027 में होगा और उस पुश्तैनी सीट पर चन्नी का वारिस कौन होगा, इसका फैसला होने में अभी करीब 3 साल बाकी हैं लेकिन अगले 6 महीने में वेस्ट विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव होना है। ऐसे में माना जा रहा है कि सांसद चन्नी इस सीट से अपनी पत्नी या बेटे को मैदान में उतारकर नया दांव खेल सकते हैं।

PunjabKesari

दूसरी ओर, विधानसभा क्षेत्र के आप विधायक शीतल अंगुराल ने 27 मार्च 2024 को इस्तीफा दे दिया था और आप सांसद और उम्मीदवार सुशील रिंकू के साथ भाजपा में शामिल हो गईं, लेकिन 1 जून को मतदान के बाद शीतल अंगुराल ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीरें और पोस्ट हटाकर, स्पीकर को विधायक पद से इस्तीफा वापस लेने के लिए पत्र लिखा था। प्रधानमंत्री की तस्वीरें और पोस्ट डिलीट कर पता नहीं किस रणनीति के तहत आम आदमी पार्टी के विधायक पद से इस्तिफा वापिस लेने की मांग करके शीतल भी बीजेपी की आंख की किरकिरी बन गए हैं। बस यही एक बड़ी बात होगी जो आने वाले समय में शीतल अंगुराल की बीजेपी टिकट पर दावेदारी में बाधा बन सकती है। अगर ऐसा हुआ तो शीतल अंगुराल को टिकट न मिलने की भी संभावना जताई जा रही है।

सुशील रिंकू पूर्व पार्षद सुनीता रिंकू के जरिए खेल सकते हैं दाव

राजनीतिक गलियारों का मानना ​​है कि सांसद का चुनाव हार चुके सुशील कुमार रिंकू की भी नजर इस सीट पर है और अगर उनका दांव फिट रहा तो वह अपनी पत्नी और पूर्व पार्षद सुनीता रिंकू को टिकट दिलाने का दांव खेल सकते हैं। अब इन अटकलों में कितनी सच्चाई है ये तो वक्त ही बताएगा लेकिन अगर ऐसा हुआ तो लोकसभा चुनाव की तरह एक बार फिर वेस्ट हलके में चन्नी और रिंकू परिवार के बीच सियासी जंग देखने को मिल सकती है।