कंट्रोल यूनिट और VVPAT मशीनों को डिस्पैच सेंटरों में जमा कराने का काम देर रात तक जारी

9
0

जालंधर- जालंधर लोकसभा चुनाव को लेकर शाम 6 बजे के बाद मतदान प्रक्रिया पूरी होने के बाद देर शाम तक सभी 1951 पोलिंग बूथों पर तैनात पोलिंग स्टाफ को जारी बैलेट यूनिट, कंट्रोल यूनिट और वीवीपैट मशीनों को सील कर दिया गया और उनके संबंधित प्रेषण केंद्रों में जमा कराना शुरू कर दिया गया।

जालंधर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सभी 9 विधानसभा क्षेत्रों के रिटर्निंग अधिकारियों की देखरेख में मशीनें जमा करने का काम रात 12 बजे के बाद भी लगातार जारी रहा। बता दें कि चुनाव आयोग ने जिले से संबंधित सभी मतदान केंद्रों के लिए बैलेट यूनिट, कंट्रोल यूनिट और वीवीपैट मशीनों जारी की गईं थी, जिनके माध्यम से आज जालंधर के मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

उत्तरी विधानसभा क्षेत्र के डिस्पैच सेंटर सरकारी कन्या विद्यालय अलास्का चौक में ए.सी.ए  कम-आर. ओ दरबारा सिंह ने कहा कि उत्तरी विधानसभा क्षेत्र से मशीनें लाने का सिलसिला जारी है। उन्होंने बताया कि मतदान का समय 6 बजे तक था और 6 बजे के बाद मतदान केंद्रों के मुख्य द्वार बंद कर दिये गये थे, लेकिन कई बूथों पर भीड़ होने के कारण जो लोग मतदान के लिए बूथ में प्रवेश कर गये थे, उन्हें मतदान करने की अनुमति दी गई, जिस कारण आखिरी समय में भी भीड़ रहती है और काम निपटाने में देर हो जाती है, जिसके बाद मतदान अधिकारी मशीनों को पूरी तरह से सील कर डिस्पैच सेंटर ले आते हैं।

राजीव वर्मा ने बताया कि उत्तरी क्षेत्र में पड़ते बूथों से सम्बन्धित बैलेट यूनिट, कंट्रोल यूनिट एवं वीवीपैट मशीनों को बूथ नंबर के हिसाब से पैक किया जाएगा और फिर सभी मशीनों को आज रात तक पंजाब लैंड रिकॉर्ड ऑफिस स्पोर्ट्स कॉलेज में बने स्ट्रॉन्ग रूम में कड़ी सुरक्षा के बीच एक साथ रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि इसी तरह सभी 9 विधानसभा क्षेत्रों के डिस्पैच सेंटरों की मशीनें भी वहीं संग्रहित की जानी हैं। 4 जून को मतगणना के दिन इन मशीनों को स्ट्रांग रूम से बाहर निकाला जाएगा और वोटों की गिनती की जाएगी।