‘मैंने कहा था ना जल्दी आऊंगा, मैं आ गया’, जेल से बाहर आते ही केजरीवाल ने भरी हुंकार

20
0

नेशनल डेस्कः दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को अंतरिम जमानत पर तिहाड़ जेल से बाहर आने पर भगवान हनुमान को धन्यवाद दिया और “तानाशाही के खिलाफ लड़ाई” में लोगों से समर्थन मांगा। आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक को सुप्रीम कोर्ट ने इससे पहले दिन में एक जून तक अंतरिम जमानत दे दी थी। वह शाम को ढोल की थाप और आप कार्यकर्ताओं व नेताओं की नारेबाजी के बीच जेल से बाहर निकले। कार की ‘सनरूफ’ से खड़े होकर केजरीवाल ने ‘जेल के ताले टूट गए, केजरीवालजी छूट गए’ के नारों के बीच आप कार्यकर्ताओं और समर्थकों को संबोधित किया।

‘भारत माता की जय’, ‘वंदे मातरम’ और ‘इंकलाब जिंदाबाद’ के नारे के साथ संबोधन की शुरुआत करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा, “मैं अपनी पूरी ताकत से तानाशाही के खिलाफ लड़ रहा हूं, लेकिन (देश के) 140 करोड़ लोगों को आना होगा मिलकर इसके खिलाफ लड़ना है।” उन्होंने कहा कि वह शनिवार सुबह 11 बजे कनॉट प्लेस स्थित हनुमान मंदिर जाएंगे और अपराह्न एक बजे आप कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करेंगे।

केजरीवाल ने कहा, “मुझे आपके बीच आकर बहुत अच्छा लग रहा है। मैंने आपसे कहा था कि मैं जल्द ही बाहर आऊंगा…सबसे पहले, मैं भगवान हनुमान को प्रणाम करना चाहता हूं। हनुमान जी की कृपा से मैं आपके बीच हूं।” आप नेता ने लोगों को उनके प्यार और आशीर्वाद के लिए धन्यवाद दिया और तानाशाही के खिलाफ लड़ने के लिए एक साथ आने को कहा। उन्होंने कहा, “मैं आप सभी को धन्यवाद देना चाहता हूं। देश के करोड़ों लोगों ने मुझे अपना आशीर्वाद भेजा। मैं उच्चतम न्यायालय को धन्यवाद देना चाहता हूं, जिसकी वजह से मैं यहां हूं।”