धूल फांकने लगीं कैंट बोर्ड द्वारा लाखों रुपए खर्च कर खरीदी गईं ई-टॉयलेट और ए.टी.एम. वाटर मशीनें

25
0

जालंधर छावनी : कैंट बोर्ड द्वारा लाखों रुपए की लागत से खरीदी गई ए.टी.एम. वाटर मशीन तथा ई-टॉयलेट मशीन कैंट के सिविल एरिया में स्थापित की गई है जो कुछ ही महीने के बाद बंद अवस्था में सड़कों पर धूल चाट रही है। ए.टी.एम. वाटर मशीन जवाहर पार्क, मधुबन पार्क हरदयाल रोड सब्जी मंडी के नजदीक तथा कैंट बोर्ड ऑफिस में स्थापित की गई है। इसी के साथ चर्च रोड पुराने बिजली घर के पास तथा मोहल्ला नंबर 24 आऊटसाइड में ई-टॉयलेट स्थापित की गई है।

चर्च रोड पर स्थापित ई-टॉयलेट मशीन हर समय बंद हाल में रहती है, जबकि दूसरी मशीन का भी बंद जैसा हाल है। गौरतलब है कि उपरोक्त मशीनें पूर्व सी.ई.ओ. मीनाक्षी लोहिया के कार्यकाल में खरीदी गई थी। हैरान की बात यह है कि ई टॉयलेट मशीन को खरीदने के लिए टैंडर निकाला गया था और उस टेंडर में केवल एक ही कंपनी ने विड भरी थी, जिसे बोर्ड मीटिंग में आसानी से पास कर लिया गया।

उल्लेखनीय है कि ई टॉयलेट मशीन करीब 9 लाख रुपए में खरीदी गई थी, जबकि उस पर 12 लाख रुपए का ट्रांसपोर्ट खर्च आया है। सूत्र बताते हैं एक विड पर खरीदी गई मशीनें भ्रष्टाचार की ओर इशारा कर रही हैं। इस मामले की जांच करने के लिए दिल्ली उच्च अधिकारियों को भी शिकायत की गई थी।