आज एक विशाल लंगर में साहित्यकार दीपक जालंधरी की याद में आयोजित किया गया। इस अवसर पर सुशील रिंकू, मनोरंजन कालिया, सुनील शर्मा (इंजीनियरिंग इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष) भी मौजूद रहे।

74
0

दीपक जी पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल की नीतियों के मुरीद थे। उन्होंने उनका चुनाव प्रबंधन भी संभाला और जालंधर से उन्हें संसद भेजने में मदद की थी। उनके परिवार में पत्नी सुदर्शन शर्मा, दो बेटियां नविता व दीपशिखा और दो बेटे नवनीत शर्मा और नवदीप शर्मा हैं। बेशक शारीरिक रूप से श्री दीपक जालंधरी आज हमारे बीच नहीं हैं परन्तु उनके द्वारा लिखित साहित्य बहुत देर तक लोगों की यादों में रहेगा। वे सदा हमारी मधुर स्मृतियों के अमर वासी बनकर रहेंगे आज उनके जन्म दिन पर हम उन्हें हृदय से नमन करते हैं।