वेडिंग सीजन पर लगी ब्रेक, जानें अब कब बजेंगी शहनाईयां

19
0

जालंधर : देश में शादियों के सीजन पर 21 अप्रैल से ब्रेक लग गई है और अब 10 जुलाई तक शादियां बंद रहेंगी यानी अगले 81 दिन शादियों के लिए कोई शुभ मुहूर्त नहीं है। 24 अप्रैल को शुक्र मेष राशि में प्रवेश करेंगे, यहां पहले से ही सूर्य का गोचर हो रहा है और मेष राशि में प्रवेश करते ही शुक्र अस्त हो जाएंगे लेकिन शुक्र के अस्त होने से 3 दिन पहले 21 अप्रैल से ही शुक्र-बाल्यत्व दोष से घिर जाएंगे। शुक्र 7 जुलाई तक अस्त रहेंगे व 7 जुलाई को उदय होने के बाद भी 10 जुलाई तक बाल्यत्व दोष के दायरे में रहेंगे। लिहाजा देश में 11 जुलाई से शादियों का सीजन शुरू होगा। इस बीच 6 मई को गुरु भी वृष राशि में अस्त होंगे और 4 जून को उदय होंगे।

ये दोनों ही ग्रह मांगलिक कार्यों के लिए शुभ होते हैं और यदि ये दोनों ग्रह अस्त हों तो मांगलिक कार्य नहीं किए जाते। शुक्र के अस्त होने का विचार खास तौर पर शादी के लिए किया जाता है क्योंकि शुक्र को ही ज्योतिष में शादी का कारक ग्रह माना जाता है। यदि शुक्र के अस्त होने की स्थिति में शादी कर ली जाए तो वैवाहिक जीवन में परेशानी पेश आती है, लिहाजा शुक्र के अस्त होने के समय देश भर में हिंदू समाज में शादियां वर्जित होती हैं। देश में शादियों का सीजन ठप्प होने के कारण अब अगले अढ़ाई महीने तक कपड़े और ज्वैलरी के कारोबार के अलावा होटल कारोबार पर भी इसका असर साफ नजर आएगा।

नवम्बर महीने में होंगी सबसे ज्यादा शादियां

शुक्र के उदय होने के बाद इस साल अगला पहला विवाह मुहूर्त 11 जुलाई को होगा, जबकि साल का आखिरी शुभ मुहूर्त 11 दिसम्बर को होगा। इस बीच नवम्बर महीने में शादी के सबसे ज्यादा मुहूर्त निकल रहे हैं और नवम्बर में 15 दिन शादी के शुभ मुहूर्त हैं, जबकि अगस्त में 12, जुलाई और अक्तूबर में 10-10 और  सितम्बर में शादियों के 9 मुहूर्त हैं। इस बीच 18 सितम्बर से पितृ पक्ष शुरू होने के कारण विवाह शादियों जैसे मांगलिक कार्य नहीं होंगे और 2 अक्तूबर को पितृ पक्ष खत्म होने के बाद ही शादियां दोबारा शुरू होंगी।

जुलाई से शादियों के शुभ मुहूर्त की तिथियां

जुलाई -11, 12, 14, 19, 20, 21, 22, 23, 27, 31
अगस्त- 5, 6, 7, 8, 11, 13, 19, 23, 24, 26, 27, 28
सितम्बर- 4, 7, 8, 9, 10, 11, 12, 13, 14
अक्तूबर- 3, 6, 7, 11, 12, 20, 21, 26, 27, 28
नवम्बर – 3, 4, 6, 8, 9, 10, 14, 17, 18, 22, 23, 24, 25, 26, 27
दिसम्बर – 5, 6, 7, 11