Punjab: फर्जी पुलिस भर्ती का भंडाफोड़, ऐसे हुआ पूरे मामले का खुलासा

24
0

जालंधर : जालंधर में युवकों की फर्जी भर्ती का भंडाफोड़ हुआ है। मिली खबर के अनुसार 2 फर्जी पुलिसकर्मियों ने युवकों की पुलिस में भर्ती करवाने के नाम पर लाखों रुपए की धोखाधड़ी की है। यही नहीं आरोपी फर्जी पुलिसकर्मी पीड़ित युवकों को भर्ती का भरोसा दिलाने के लिए एसएसपी आफिस और पीएपी के बाहर रजिस्टरों पर फर्जी हाजिरी भी लगवाते रहे। उक्त मामले का खुलासा तब हुआ जब पीड़ित युवकों को 3 महीने तक कोई सैलरी नहीं मिली।

मिली जानकारी के अनुसार पूरे मामले की जांच 3 साल तक चली जिसके बाद जालंधर कैंट की पुलिस ने 2 व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। आरोपियों की पहचान अमित कुमार व बलविंदर कुमार दोनों निवासी मोहल्ला नंबर 32, जालंधर कैंट के रूप में हुई है। फिलहाल दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी अभी बाकी है।

अधिक मिली जानकारी के अनुसार पीड़ित चेतन ने बताया कि उसके पिता वैल्डिंग का काम करते हैं। आरोपी उसके पिता की दुकान पर आए और नौकरी दिलाने का झांसा दिया कि वह पीएपी में दर्जा चार का कर्मचारी है। वह उसके बेटे नौकरी पर लगा देगा जिसके लिए 1 लाख रुपए लगेंगे। आरोपी ने ये भी कहा कि अगर वह अन्य युवकों की भर्ती करवाएंगे तो पैसे कम लगेंगे। इसके बाद पीड़ित चेतन ने अपने दोस्तों सुनील कुमार, नवीन अभिषेक, मणि, अशोक कुमार, सौरव कुमार, मनीष कुमार और विक्रम कुमार से पुलिस में भर्ती होने की बात की। सभी दोस्तों ने मिलकर 9 लाख रुपए आरोपी को दे दिए।

आरोपियों ने पीड़ित चेतन को कहा कि उसका काम पुलिस द्वारा जारी नोटिस को को डाक से लोगों के घरों तक पहुंचाना है, जिसके लिए 26 हजार रुपए महीना वेतन मिलेगा। इसके बाद आरोपियों ने पीड़ित युवकों को टेस्टिंग के लिए बुलाया और कहा कि वह पास हो गए हैं। ऐसे ही पीएपी के बाहर युवकों की फर्जी हाजिरी लगवानी भी शुरू कर दी गई। 15 दिन पीएपी और अगले 15 दिन एसएसपी दफ्तर के बाहर हाजिरी लगवाकर युवकों को घर भेज दिया जाता था। इसके बाद जब युवकों को 3 महीने तक सैलरी नहीं मिली तो उन्होंने आरोपियों से बातचीत की तो वह टाल मटोल करने लगे। इसके बाद जब युवकों ने जांच की तो उन्हें पता चला कि उनके साथ धोखाधड़ी हो गई है। इसके बाद पीड़ित युवकों ने उक्त मामले की शिकायत उच्च पुलिस अधिकारियों को दी जिन्होंने इस मामले की जांच कैंट जालंधर को सौंप दी। पूरे 3 साल तक इस मामले की जांच के बाद पुलिस ने आरोपी बलविंदर कुमार व अमित कुमार के खिलाफ मामला दर्ज किया है।