पुलिस केस रिश्वत मामला: विजिलेंस ने किया दो आरोपियों को गिरफ्तार

police-case-bribery-case

67
0

चंडीगढ़: राज्य भर में चल रहे अपने भ्रष्टाचार विरोधी अभियान के तहत, विजिलेंस ब्यूरो, पंजाब ने आज लुधियाना से विशाल कुमार और जतिंदर कुमार नामक दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है। इन लोगों ने पुलिस केस से शिकायतकर्ता का नाम हटाने की एवज में 4 लाख रुपये की रिश्वत ली थी। इस संबंध में जानकारी देते हुए राज्य चौकसी ब्यूरो के प्रवक्ता ने बताया कि राजीव कुमार उर्फ ​​रवि निवासी न्यू सुभाष नगर, बस्ती जोधेवाल, लुधियाना ने मुख्यमंत्री भ्रष्टाचार निरोधक एक्शन लाइन पर एक ऑनलाइन शिकायत दर्ज की थी, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि उक्त लोगों ने हत्या के एक मामले से नाम वापस लेने के लिए उससे चार लाख रुपये ले लिये हैं।

शिकायत की आगे की जांच से पता चला कि लुधियाना के बस्ती जोधेवाल पुलिस स्टेशन में मनोज कुमार और अन्य के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 302 के तहत एक प्राथमिकी दर्ज की गई है। क्रमांक 68 (2020) दाखिल किया गया। मनोज कुमार द्वारा दी गई जानकारी के बाद इस मामले में शिकायतकर्ता का नाम भी जोड़ा गया। इसके बाद शिकायतकर्ता से मुलाकात के दौरान विशाल कुमार ने दावा किया कि वह लुधियाना के सुभाष नगर स्थित ब्रांडेड बाना गारमेंट स्टोर के मालिक जितिंदर कुमार का परिचित है। विशाल कुमार ने शिकायतकर्ता को आश्वासन दिया कि उसके नियोक्ता, लुधियाना के एक ए.डी.सी.पी. (अपर पुलिस आयुक्त) के बीच अच्छे संबंध हैं और वह हत्या के मामले में पुलिस जांच करा सकते हैं और उसे निर्दोष साबित कर सकते हैं।

शिकायतकर्ता ने कहा कि विशाल कुमार और जितिंदर कुमार ने अगस्त 2020 में उससे 4 लाख रुपये लिए लेकिन पैसे के बदले में उसे कोई राहत नहीं मिली। उसका पता लगाने के लिए लगातार पुलिस छापेमारी के दौरान उसे (शिकायतकर्ता) गिरफ्तार किया गया।जब उसने दोनों आरोपियों से संपर्क किया तो उन्होंने उससे कहा कि 4 लाख रुपये सिर्फ जांच शुरू करने के लिए थे। शिकायतकर्ता को बाद में 25 अप्रैल, 2023 को जमानत मिल गई और 18 अगस्त, 2023 को लुधियाना सत्र न्यायालय ने बरी कर दिया। इसके बाद उसने उक्त आरोपियों से 4 लाख रुपये वापस मांगे, लेकिन उन्होंने रुपये लौटाने के संबंध में कोई जवाब नहीं दिया।

आखिरकार शिकायतकर्ता ने मामले में शिकायत दर्ज कराई और सबूत के तौर पर ऑडियो रिकॉर्डिंग विजिलेंस ब्यूरो को मुहैया कराई। गहन जांच के बाद यह बात सामने आई कि पुलिस केस में दोनों आरोपी ए.डी.सी.पी. शिकायतकर्ता से यह कहकर 4 लाख रुपये की रिश्वत ली गई कि उसका संबंध लुधियाना से है।प्रवक्ता ने बताया कि इस संबंध में विशाल कुमार और जतिंदर कुमार के खिलाफ एफआईआर नंबर 27 दिनांक 27 अक्टूबर, 2023 के तहत भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 7-ए और आईपीसी की धारा 120-बी के तहत मामला दर्ज किया गया है। विजिलेंस ब्यूरो की लुधियाना रेंज। दोनों व्यक्तियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और इस संबंध में आगे की जांच जारी है।