लोकसभा चुनाव : पंजाब आने से पहले किसानों के लिए बड़ी घोषणा कर सकते हैं PM मोदी

16
0

लुधियाना : लोकसभा चुनाव के दौरान पंजाब में वोटिंग के लिए काफी कम समय बाकी रह गया है। इससे पहले भाजपा द्वारा बड़े नेताओं को प्रचार के लिए उतारने की तैयारी शुरू कर दी गई है। इनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी व भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा के नाम मुख्य रूप से शामिल हैं लेकिन उक्त नेताओं की रैलियों के दौरान भाजपा को किसानों के विरोध का डर सता रहा है। हालांकि किसानों के लंबे संघर्ष के बाद मोदी द्वारा 3 कृषि कानून वापस लेने की घोषणा कर दी गई थी लेकिन भाजपा के प्रति किसानों का गुस्सा कम नहीं हुआ है जिसके संकेत कांग्रेस सरकार के दौरान पंजाब आए मोदी का रास्ता रोकने से मिल चुके हैं।

अब लोकसभा चुनाव से ठीक पहले किसानों ने फिर से अपनी मांगों को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला है। इस दौरान हरियाणा में किसानों को दिल्ली की तरफ जाने से रोकने के मुद्दे पर केंद्र सरकार के साथ टकराव बढ़ गया है जिसके तहत लोकसभा चुनाव के दौरान गांवों में जाने वाले भाजपा के उम्मीदवारों को किसानों के भारी विरोध का सामना करना पड़ रहा है जिसके मद्देनजर ही अकाली दल द्वारा भाजपा से गठबंधन न करने का फैसला किया गया है। अब किसानों द्वारा मोदी या भाजपा के किसी अन्य बड़े नेताओं की रैलियों के दौरान भी विरोध करने की योजना बनाई जा रही है। उधर, इस चेतावनी को ध्यान में रखते हुए भाजपा द्वारा भी रणनीति बनाई जा रही है। बताया जा रहा है कि गांवों में हो रहे विरोध की वजह से पैदा हुई स्थिति से निपटने के लिए मोदी पंजाब आने से पहले किसानों को राहत देने से जुड़ी बड़ी घोषणाएं कर सकते हैं।

योगी सहित दूसरे राज्यों के नेताओं का भी देखने को मिलेगा जमावड़ा

लोकसभा चुनाव के दौरान पंजाब में मोदी या अन्य केंद्रीय मंत्रियों के अलावा दूसरे राज्यों के नेताओं का भी जमावड़ा देखने को मिलेगा जिनमें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ का क्रेज सबसे ज्यादा है जिन्हें पंजाब में 3 जगह रैलियां करने का प्रोग्राम बनाकर पंजाब भाजपा के प्रधान सुनील जाखड़ ने भेज दिया है। इससे पहले गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, राजस्थान से केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, कैलाश चौधरी ने कई दिनों से पंजाब में डेरा जमाया है। इसके अलावा असम के मुख्यमंत्री हेमंत विश्व सरमा पटियाला से परनीत कौर के नामांकन दाखिल करने के दौरान आए थे। अब पंजाब में रहने वाले राजस्थान के लोगों को साधने के लिए मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा आ रहे हैं और आने वाले दिनों में गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल का भी इसी उद्देश्य से पंजाब आने का प्रोग्राम है।