280 सांसद पहली बार पहुंचे संसद, रामायण के राम अरुण गोयल से लेकर पूर्व जज तक पहुंचे लोकसभा

28
0

नेशनल डेस्कः लोकप्रिय टीवी धारावाहिक रामायण में भगवान राम की भूमिका निभाने वाले अभिनेता अरुण गोविल, दलित अधिकार कार्यकर्ता चंद्रशेखर आजाद और पूर्ववर्ती राजपरिवार के यदुवीर कृष्णदत्त चामराजा वाडियार उन 280 सदस्यों में शामिल हैं जो लोकसभा का चुनाव जीतकर पहली बार संसद पहुंचे हैं। पूर्व मुख्यमंत्रियों, राज्यसभा सदस्यों, उद्यमियों और यहां तक कि हाईकोर्ट के एक पूर्व न्यायाधीश ने हाल ही में संपन्न आम चुनावों में जीत हासिल कर संसद के 543 सदस्यीय निचले सदन में प्रवेश किया है। पहली बार लोकसभा सदस्य बने सदस्यों की संख्या कुल सदस्यों का 52 प्रतिशत है।

लोकसभा में 80 सदस्यों को भेजने वाले सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश से 45 सदस्य ऐसे हैं जो पहली बार संसद पहुंचे हैं। इनमें मेरठ सीट से भाजपा के गोविल, अमेठी से भाजपा की स्मृति ईरानी को हराने वाले कांग्रेस के किशोरीलाल शर्मा और नगीना सीट से आजाद समाज पार्टी के चंद्रशेखर आजाद शामिल हैं। महाराष्ट्र से पहली बार संसद पहुंचने वाले सदस्यों की संख्या 33 हैं। इनमें स्कूल शिक्षक भास्कर भागरे भी शामिल हैं, जिन्हें डिंडोरी की आदिवासी सीट से राकांपा-शरदचंद्र पवार ने मैदान में उतारा था। भागरे ने भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री भारती पवार को हराया है। महाराष्ट्र में इस बार लोकसभा चुनाव में भाजपा को हार का सामना करना पड़ा है।

महाराष्ट्र से पहली बार चुने गए सदस्यों में भाजपा के पीयूष गोयल भी शामिल हैं, जो मुंबई उत्तर से लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए हैं। अमरावती से भाजपा की नवनीत राणा को हराने वाले बलवंत वानखेड़े, अकोला से पूर्व केंद्रीय मंत्री संजय धोत्रे के बेटे अनूप धोत्रे और सांगली से निर्दलीय उम्मीदवार विशाल पाटिल भी पहली बार लोकसभा सदस्य के लिए चुने गए हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री भी लोकसभा में आएंगे नजर
लोकसभा के लिए पहली बार चुने गए 280 सदस्यों में कुछ पूर्व मुख्यमंत्री भी हैं। इनमें नारायण राणे (रत्नागिरी-सिंधुदर्ग), त्रिवेंद्र सिंह रावत (हरिद्वार), मनोहर लाल खट्टर (करनाल), बिप्लब कुमार देब (त्रिपुरा पश्चिम), जीतन राम मांझी (गया), बसवराज बोम्मई (हावेरी), जगदीश शेट्टार (बेलगाम) और चरणजीत सिंह चन्नी (जालंधर) शामिल हैं। अभिनेता सुरेश गोपी (त्रिशूर), कंगना रनौत (मंडी), जून मालियह (मेदिनीपुर), सायनी घोष (जाधवपुर) और रचना बनर्जी (हुगली) भी पहली बार लोकसभा में प्रवेश करेंगे।

राज्यसभा सांसद भी पहुंचे लोकसभा
राज्यसभा सदस्य अनिल देसाई (शिवसेना यूबीटी), मीसा भारती (राजद), भूपेंद्र यादव, धर्मेंद्र प्रधान, मनसुख मंडाविया और पुरुषोत्तम रूपाला (सभी भाजपा) भी लोकसभा पहुंचे हैं। पूर्ववर्ती राजपरिवारों से संबंध रखने वाले छत्रपति शाहू (कोल्हापुर), यदुवीर कृष्णदत्त चामराजा वाडियार (मैसूर) और कृति देवी देबबर्मन (त्रिपुरा पूर्व) के सदस्य पहली बार लोकसभा में प्रवेश करेंगे। पश्चिम बंगाल में तलमुक लोकसभा सीट से जीतने वाले कलकत्ता उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश अभिजीत गंगोपाध्याय भी पहली बार सांसद की शपथ के लिए तैयार हैं। उद्यमी उदय श्रीनिवास तांगेला, जिन्हें टी टाइम उदय के नाम से भी जाना जाता है, काकीनाडा से पहली बार लोकसभा के लिए चुने गए हैं।

पहली बार लोकसभा के लिए चुने गए युवा सदस्यों में 25 वर्षीय शांभवी (लोजपा-आरवी-समस्तीपुर), 26 वर्षीय सागर खांद्रे (कांग्रेस-बीदर), 27 वर्षीय प्रियंका जारखीहोली (कांग्रेस-चिक्कोड़ी), 26 वर्षीय संजना जाटव (कांग्रेस-भरतपुर) और 31 वर्षीय राजकुमार रोत (भारत आदिवासी पार्टी-बांसवाड़ा) शामिल हैं। दुरई वाइको (तिरूचिरापल्ली), के एन अरुण नेहरू (पेरम्बलूर), एस मुरासोली (तंजावुर), एटाला राजिंदर (मलकाजगिरी), उज्ज्वल रमन सिंह (इलाहाबाद) और यूसुफ पठान (बहरामपुर) भी चुनाव जीतकर पहली बार लोकसभा सदस्य बनने जा रहे हैं।